Monday, 24 June 2024
Trending
टेक्नोलॉजी

Nokia ने दुनिया की पहली 3D कॉल करके किया धमाका – वीडियो में देखें क्या होता है 3D कॉल

नोकिया ने META virtual worlds की ओर एक कदम बढ़ाते हुए दुनिया की पहली Immersive Voice and Audio Services (IVAS) codec कॉल करने में सफलता प्राप्त कर ली है।

सोमवार को कंपनी नोकिया ने सेलुलर नेटवर्क पर दुनिया की पहली लाइव इमर्सिव वॉयस और ऑडियो कॉल की। ​​

नोकिया के President और CEO Pekka Lundmark ने Finland’s Ambassador of Digitalization and New Technologies के साथ लाइव immersive audio and video call की।

यह 3D ऑडियो के साथ कॉल की गुणवत्ता में सुधार करता है। जिससे बातचीत रेगुलर 5G स्मार्टफोन कॉल की तुलना में और भी ज्यादा जीवंत लगती है।

जानें क्या है ‘Immersive Voice and Audio Services (IVAS) codec technology’ ?


Immersive Voice and Audio Services (IVAS) कोडेक टेक्नोलॉजी किसी भी कनेक्टेड डिवाइस (जैसे स्मार्टफोन, टैबलेट या पीसी) पर लाइव spatial audio सक्षम करती है, जिससे लोग 3D ऑडियो के साथ वास्तविक जीवन की बातचीत के लिए एक साथ आते हैं।

इससे आपको एसालगता हैं की जैसे आप खुद वहा पर हो और जैसे आप अपने कानो से वॉइस सुनते हो ऐसा ही अनुभव हमें इस नई टेक्नोलॉजी के साथ Call मैं हमें अनुभव करने को मिलती हैं।

आज स्मार्टफोन और पीसी में इस्तेमाल होने वाले Monophonic Telephony Audio की शुरुआत के बाद से यह लाइव वॉयस कॉलिंग अनुभव में सबसे बड़ी छलांग है।

अभी हमारे Phone Call मैं जो monophonic telephony audio देखने मिलती हैं उससे यह नई टेक्नोलॉजी बहुत बढ़िया हैं।

इस वीडियो में आप देख सकते हैं कि यह Technology कैसे काम करती है।


कैसे है यह रेगुलर फोन कॉल से अलग?


वर्तमान स्मार्टफोन कॉल मोनोफ़ोनिक है, जो ऑडियो एलिमेंट्स को एक साथ कंप्रेस करते हैं, जिसे साउंड फ्लैटर और कम डिटेल्ड हो जाता है। लेकिन इमर्सिव फोन कॉल की नई टेक्नोलॉजी 3D ऑडियो का इस्तेमाल करती है। जहां एक कॉल करने वाला सब कुछ ऐसे सुन सकता है जैसे कि मैं दूसरा व्यक्ति उसके सामने ही मौजूद हो।

लुकेंडर ने एक इंटरव्यू में कहा, “मुझे नोकिया के शोधकर्ताओं और इंजीनियरों द्वारा निभाई गई अग्रणी भूमिका पर गर्व है, जिन्होंने इन अभिनव इमर्सिव वॉयस और ऑडियो टेक्नोलॉजी को बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। मानकीकरण के कारण, अब पूरी दुनिया को इस इनोवेशन से लाभ मिलेगा।”

इस नई टेक्नोलॉजी के निर्माण में कौन शामिल हैं?


3GPP(Third Generation Partnership Project (3GPP)) IVAS codec standard को IVAS कोडेक सार्वजनिक सहयोग के ढांचे के तहत 13 कंपनियों के एक संघ द्वारा विकसित किया गया है।

नोकिया इन मानकीकरण प्रयासों में अग्रणी रहा है और इसने मानक में प्रौद्योगिकी के प्रमुख हिस्सों का योगदान दिया है।

जिसमें IVAS मानक के लिए एक स्मार्टफोन विशिष्ट प्रारूप का विकास भी शामिल है। इस इनोवेशन को विश्वव्यापी मानक में शामिल करना ऑपरेटरों, चिपसेट और हैंडसेट निर्माताओं के बीच अंतर-संचालन को सक्षम करने की कुंजी है, जिससे सभी के लिए 3D कम्युनिकेशन उपलब्ध हो सके।

Become a Trendsetter With DailyLiveKhabar

Newsletter

Streamline your news consumption with Dailylivekhabar's Daily Digest, your go-to source for the latest updates.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *