Monday, 24 June 2024
Trending
लाईफ स्टाइल

धार्मिक आदर्शों के अनुसार घर के मंदिर के आसपास भूलकर भी न रखें ये चीजें, वर्ना आपको भुगतनी पड़ेगी बहुत सारी मुश्किलें

वास्तु शास्त्र की अद्वितीयता जैसे ज्योतिष की एक अद्भुत रूप है। घर का निर्माण और सजावट करते समय, वास्तु के महत्व को समझना और इसे ध्यान में रखना अत्यंत आवश्यक है। यह न केवल व्यक्ति के भाग्य को प्रभावित करता है, बल्कि उसकी आर्थिक स्थिति को प्रभावित करती है।

आपके घर में वास्तु शास्त्र की अत्यंत महत्वपूर्णता को बताया गया है। घर की रसोई से लेकर मंदिर तक, हर क्षेत्र में वास्तु का पालन करने से आपके जीवन को सकारात्मकता मिलती है। अगर वास्तु दोष होता है, तो व्यक्ति को आर्थिक तंगी और दरिद्रता का सामना करना पड़ सकता है। इसलिए, मंदिर के आसपास सामान रखते समय ध्यान देना जरूरी है। यहाँ हम वास्तु से जुड़े नियमों के बारे में जानेंगे…

मंदिर के आसपास न रखें ये तस्वीरें

मंदिर में पितरों या पूर्वजों की छवियों का उपयोग न करें, इसे वास्तु शास्त्र में अशुभ माना जाता है। मंदिर में पितरों की तस्वीरें लगाने से भगवान का अपमान होता है, इसलिए उन्हें अलग स्थान पर रखें। यह सुनिश्चित करें कि ये तस्वीरें दक्षिण दिशा में हों, जो शुभ माना जाता है।

मंदिर में न रखें फटी पुरानी पुस्तकें

घर के मंदिर या फिर उसके आसपास भूलकर भी फटी पुरानी वस्तुएं नहीं रखनी चाहिए। इनमें खासकर मंदिर से जुड़ी धार्मिंक किताब, आरती, सूखे हुए फूल शामिल हैं। इन्हें रखने से घर में नकारात्मकता आती है। घर में उदासीनता के साथ ही दरिद्रता का वास होता है. अगर आपके मंदिर के आसपास भी ये चीजें रखती हैं तो इन्हें तुरंत हटा दें।

मंदिर में रखें सिर्फ एक शंख

बहुत से लोग मंदिर में अनेक शंख रख लेते हैं, लेकिन वास्तु के अनुसार, मंदिर में केवल एक ही शंख होना चाहिए। अधिक शंख रखने से वास्तु दोष होता है, जिससे माता लक्ष्मी और भगवान विष्णु की कृपा प्राप्त नहीं होती। घर में धन की कमी और भाग्य का प्रभाव हो सकता है।

मंदिर में न रखें शनि देव की मूर्ति

घर के मंदिर में कभी भी शनि देव की मूर्ति नहीं रखनी चाहिए. इससे शनिदेव की बुरी दृष्टि पड़ती है। घर के सदस्यों का भाग्य प्रभावित होता है। भगवान के रौद्र रूप की आकृति या मूर्ति या फोटो मंदिर के आसपास भी नहीं रखने चाहिए. इसके साथ ही खंडित मूर्ति को रखना भी पाप होता है।

घर के आसपास जमा न करें कबाड़ 

घर में मंदिर या उनके आसपास कबाड़ न रखें। यह वास्तु को प्रभावित कर सकता है। मंदिर में केवल भगवान की मूर्तियाँ और तस्वीरें होनी चाहिए। पूजा-पाठ के दौरान अर्पित की गई सामग्री जैसे फूल, मिठाई, और अगरबत्ती की राख को भी मंदिर में नहीं जमा करें।

Become a Trendsetter With DailyLiveKhabar

Newsletter

Streamline your news consumption with Dailylivekhabar's Daily Digest, your go-to source for the latest updates.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *