Monday, 24 June 2024
Trending
सेलिब्रिटी

साउथ के 6 हीरो जिन्हे पहली फिल्म में लोगो ने रिजेक्ट कर दिया था लेकिन बाद में वे सुपरस्टार बन गए

superstar1

साउथ के वो 6 कलाकार जिनको शुरू में लोगो ने रिजेक्ट कर दिया था लेकिन उन्होंने इस असफलता से निराश नहीं हुए लेकिन उन्होंने अपनी एक्टिंग के दम पर सुपरस्टार बन गए आइये जानते हैं इन एक्टर के बारे में।

जब कलाकारों की पहली फिल्म आई थी तब कुछ लोग उनके Looks , फिल्म में हीरो की Acting और किसी मीडिया चैनल ने तो किसी एक्टर को कह दिया कि इनका मुंह चूहे जैसा लगता है। और कईयों ने तो कहा कि यह Film सिर्फ उनके पिता की वजह से ही मिली, बाकी उनमें यह प्रतिभा ही नहीं है कि वे यह फिल्म कर सकें।

1. Rajnikanth – “Black Actor Can Become a Hero and Superstar”


हमारी लिस्ट में पहले एक्टर हैं सुपरस्टार रजनीकांत जिनसे शुरुआत में लोगों ने काला होने के कारण रिजेक्ट कर दिया था। जब वह फिल्मो में आए थे तब तमिल सिनेमा में एक स्टीरियोटाइप था कि काले रंग के लोग फिल्म में हीरो नहीं बन सकते अगर बनते हैं तो वो फिल्म भी नहीं चलती।

इसलिए रजनीकांत को शुरू में सिर्फ गुंडे मवाली और खूनी या दारुपीने वाले साइड किरदार ही मिलते थे बावजूद उन्होंने संघर्ष किया और तमिल सिनेमा से ये भेदभाव दूर किया कि काले रंग वाला अभिनेता हीरो नहीं बन सकता है।

उन्हें अपनी पहचान के लीड Hero के रूप में 70 के दशक की आई फिल्म ‘भैरवी‘ से मिली, यह फिल्म सुपर डुपर हिट रही। और आज उन्होंने वो मुकाम हासिल किया है कि शायद ही कोई इस मुकाम पर पहुंच सके।

आज उनकी उम्र 73 साल होने के बावजूद एक्टिंग करके लोगो का दिल जित रहे हैं। उनकी अगली फिल्म Vettaiyaan और दूसरी फिल्म लोकेश कनगराज निर्देशित COOLIE – Thalaivar 171 हैं।

2. Suriya – Rajinikanth Once Predicted: “Suriya Won’t Survive in the Film Industry”


आज हम बात करेंगे तमिल सिनेमा के एक और अभिनीत सूर्या के बारे में, मैं जो तमिल सिनेमा के बहुत बड़े अभिनेता हैं और वे फिल्मों के अपनी चॉइस के कारण उनकी फिल्मों को लेकर लोग बहुत उत्साहित रहते हैं।

सूर्या तमिल इंडस्ट्री के ऐसे सितारे हैं जिन्होंने मसाला मूवी और क्लास मूवी के बिच अच्छा संतुलन बनाए रखा है। उनकी फ़िल्में न केवल व्यावसायिक रूप से सफल हैं, बल्कि एक अभिनेता के रूप में भी वे काफ़ी बुद्धिमान हैं। आज सूर्या तमिल सिनेमा के प्रमुख चेहरों में से एक हैं।

लेकिन जब ये शुरुआत में आये तब उनकी स्थिति ऐसी नहीं थी। वह सुपरस्टार शिव कुमार के बेटे हैं, इसलिए उनके डेब्यू फिल्म ने सभी का ध्यान खींचा। हालाँकि शुरुआती कुछ फिल्मों में सूर्या बिल्कुल भी ट्रैक पर नहीं थे, ऐसा लग रहा था जैसे वह नौसिखिए हों।

उनकी फिल्में देखकर लगता था कि वे एक्टिंग कर ही नहीं सकते, उन्होंने एक्टिंग सीखी ही नहीं, ऐसा लग रहा था क्योंकि उनके चेहरे पर कोई एक्सप्रेशन ही नहीं था, इसलिए उनके लिए काफी आलोचकों का सामना करना पड़ा।

यहां तक ​​कि सुपरस्टार रजनीकांत ने खुद कप्पन फिल्म के प्री-रिलीज़ इवेंट में कहा था कि जब उन्होंने सूर्या को पहली बार स्क्रीन पर देखा था तो उन्हें लगा था कि ये लड़का इंडस्ट्री में बिल्कुल भी टिक नहीं पाएगा, उसमें बिल्कुल भी कॉन्फिडेंस नहीं था, कैमरे पर फोकस भी नहीं कर पाता था और यहां तक ​​कि उसकी डायलॉग डिलीवरी भी बिल्कुल फ्लैट थी।

हालाँकि बाद में सूर्या ने खुद पर काम किया और खुद को इतना साबित किया कि रजनीकांत साहब ने कहा कि सूर्या ने उन्हें पूरी तरह से गलत साबित कर दिया और समय के साथ वे खुद Nanda, Pithamagan, Perazhagan, Ghajini और Soorarai Pottru जैसी फिल्मों से उनके प्रशंसक बन गए। आज सूर्या को भारत का सबसे महान अभिनेता माना जाता है।

3. Allu Arjun – “Stylish Hero”


अल्लू अर्जुन एक स्टाइलिश हीरो हैं। पैन इंडिया और तेलुगु इंडस्ट्री में उनकी जबरदस्त फैन फॉलोइंग है। अल्लू अर्जुन भी उन एक्टर्स में से एक हैं जिन्हें बतौर लीड हीरो अपने शुरुआती दौर में काफी नुकसान उठाना पड़ा था। उनकी पहली फिल्म गंगोत्री थी फिल्म तो हिट रही थी लेकिन अल्लू अर्जुन को उनके लुक की वजह से काफी आलोचना झेलनी पड़ी थी। लोग कह रहे थे की उनके पिता अल्लू अरविन्द जो तेलुगु सिनेमा के बहुत बड़े प्रोडूसर हैं उनकी वजह से ही उनको ये फिल्म मिली हैं।

अल्लू अर्जुन ने खुद पर काम किया। अपनी एक्टिंग लुक्स और अच्छी बॉडी बनाई और Aarya के साथ फिर से अपना कमबैक किया। जाहिर तौर पर यह फिल्म अल्लू अर्जुन की ब्रेक थ्रू फिल्म साबित हुई। समय के साथ उन्होंने खुद को एक स्टार के रूप में स्थापित किया और वही एक्टर जिसे इंडस्ट्री में अगला सुपरस्टार बताया जा रहा है।

4. Ram Charan


राम चरण जब उनकी पहली फिल्म आई थी तब कई मीडिया चैनलों ने उनकी आलोचना की थी और दूसरी फिल्म में उन पर काफी दबाव था क्योंकि वह साउथ के बड़े अभिनेता “मेगा स्टार चिरंजीवी” के बेटे थे इसलिए उनपर सबकी नजर थी की क्या वे अपने पिता की विरासत को आगे बढ़ाएंगे या नहीं।

मेगास्टार चिरंजीव के बेटे का डेब्यू होने वाला था। शायद यह तेलुगु इंडस्ट्री के इतिहास में सबसे बड़ा डेब्यू था। बतौर लीड हीरो उनकी पहली फिल्म Chirutha थी और इस फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर अच्छी कमाई की थी। इंडस्ट्री में माना जा रहा था कि चिरंजीवी और पवन कल्याण के चाहने वालों ने इस फिल्म को सपोर्ट किया, जिसकी वजह से यह फिल्म कमर्शियली सफल रही थी।

इसके बाद राम चरण ने दो साल तक फिल्म Magadheera ऊपर काम किया। मगधीरा फिल्म जिसको S. S. Rajamouli ने डायरेक्ट किया था और फिल्म रिलीज होने के बाद तेलुगु इंडस्ट्री में हिट साबित हुई और राम चरण के करियर की टर्निंग पॉइंट फिल्म थी। इस फिल्म ने साबित कर दिया कि रामचरण को सुपरस्टार का दर्जा मिल गया और वह तुरंत तेलुगु इंडस्ट्री के टॉप लीग एक्टर्स में शामिल हो गए।

5. Thalapathy Vijay


तमिल सुपरस्टार थलपति विजय जो अपनी अगली फिल्म के लिए Thalapathy 69 के लिए 250 करोड़ फीस ले कर भारत के सबसे ज्यादा फीस लेने वाले अभिनेता बन गए हैं। उनकी पहली फिल्म जो उनके पिता S. A. Chandrasekhar एक प्रसिद्ध निर्देशक थे और उन्होंने अपने बेटे को लेकर एक फिल्म बनाई थी। फिल्म Nalaiya Theerpu इतनी बड़ी फ्लॉप रही कि थलपति विजय के पिता S. A. Chandrasekhar कर्ज में डूब गए।

Media Once Said: “Vijay’s Face Looks Like a Rat” – Now He is India’s Highest Paid Actor

एक बड़े मीडिया हाउस ने लिखा था कि फिल्म के हीरो की शक्ल चूहे जैसी है। ये बात उनको बहुत चुभ गई और उन्होंने इस बात को दिल पर ले लिया। थलपति विजय को उनके लुक की वजह से काफी ताने लोगो के सुने । लेकिन थलपति विजय ने धीरे-धीरे अपने लुक पर काम किया।

वह पूरी तरह से रोमांटिक हीरो के तौर पर खुद को पहचान बनाई । एक समय ऐसा आया जब थलपति विजय फिल्म दर फिल्म सफलता की सीढ़ियां चढ़ रहे थे और वही मीडिया हाउस जिसने कहा था की उनका मुँह चूहे जैसा लगता हैं वही मीडिया हाउस ने उनकी तारीफ की और थलपति विजय ने उस आर्टिकल को काटकर हमेशा के लिए अपने पास रख लिया था।

6. Fahadh Faasil


हाल ही मैं फहाद फासिल की नई फिल्म Aavesham आई थी जिसमें यह रील थी जो इंस्टाग्राम पर खूब वायरल हो रही है और लोग इस गाने पर रील बनाकर शेयर कर रहे हैं।

फहाद फासिल मलयालम सिनेमा के बहुत प्रतिभाशाली अभिनेता मे से एक हैं उनकी हटके फिल्मों के कारण और उनके किरदार के कारण उन्हें काफी पसंद किया जाता है। उनकी पहली फिल्म उनके पिता फाजिल ने उन्हें Kaiyethum Doorath नाम की फिल्म से लॉन्च किया था लेकिन यह फिल्म बॉक्स ऑफिस पर असफ़ल रही थी।

कई मीडिया हाउस ने कहा कि उनके पिता को कोई दूसरा एक्टर इस फिल्म में कास्ट करना चहिए था क्योंकि फहाद की परफॉरमेंस काफी औसत थी। फहाद बात सच लगी क्योंकि उनकी परफॉरमेंस काफी अच्छी नहीं थी इसलिए उन्होंने इस बात को दिल पर ले लिया और फिल्मो में काम करना छोड़ दिया।

First film failed. Quit movies. but watching Irrfan Khan’s work inspired him to return to cinema.

फहाद फिर Philosophy की पढ़ाई करने अमेरिका चले गए और उन्होंने अभिनय के बारे में सोचना बंद कर दिया लेकिन उन्होंने इरफान खान की फिल्म “Yun Hota Toh Kya Hota” देखी जो उन्हें बहुत पसंद आई। उन्हें इरफान खान की एक्टिंग बहुत पसंद आई और फिर उन्होंने देखा कि कैसे नैचरल अभिनय किया जा सकता है और लोगों को नैचरल एक्टिंग बहुत पसंद आता है। फिर वे भारत लौट आए और फिर से शुरुआत की।

फिर उन्होंने 2 साल तक एक्टिंग सीखी और फिर उन्होंने फिल्म kerala cafe में जर्नलिस्ट का छोटा सा रोल मिला और उनकी एक्टिंग लोगों को काफी पसंद आई। अब ऐसे में उनके लिए ऑफर भी मिलना शुरू हो गए। और धीरे-धीरे उन्होंने कई फिल्मो में काम किया। और 2013 में मैंने उनकी 12 फिल्में मो में काम किया। और वे मलयालम सिनेमा में नई लहर लेकर आए थे। उनकी कुछ खास फ़िल्मों में हैं Chaappa Kurishu, Thondimuthalum Driksakshiyum, Trance, Maheshinte Prathikaaram, Kumbalangi Nights, Vikram, Pushpa हैं।

Become a Trendsetter With DailyLiveKhabar

Newsletter

Streamline your news consumption with Dailylivekhabar's Daily Digest, your go-to source for the latest updates.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *