Tuesday, 25 June 2024
Trending
देश दुनिया

World Consumer Day: Customers को जागरूक करने का आदेश! भारत में ये 6 अधिकार होने चाहिए हर Customers को, अगर नहीं पता तो अब जान लें

हर साल 15 मार्च को यह उत्सव मनाया जाता है, जिसका मकसद है कि दुनिया भर के ग्राहकों को उनके अधिकारों के बारे में जागरूक किया जाए। भारत में भी कई कन्ज्यूमर्स के अधिकार हैं, लेकिन अक्सर ये अधिकार लोगों को पता नहीं होते। आज, जब हम World Consumers Day 2024 मना रहे हैं, हम आपको इन अधिकारों के बारे में बताना चाहेंगे।

भारत में उपभोक्ता अधिकार: आपने शायद टीवी पर अनेक बार “उठो ग्राहक बदलो” की टैगलाइन के साथ विज्ञापन देखा होगा। ये विज्ञापन देखने का मकसद ग्राहकों को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक करना है। विश्व कन्ज्यूमर्स डे भी इसी उद्देश्य के साथ हर साल 15 मार्च को मनाया जाता है, ताकि दुनिया भर के ग्राहकों को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक किया जा सके।

15 मार्च को विश्व उपभोक्ता अधिकार दिवस का आयोजन अमेरिकी राष्ट्रपति जॉन एफ कैनेडी के नेतृत्व में हुआ था। 1962 में, कैनेडी ने अमेरिकी कांग्रेस को संबोधित करके उपभोक्ता अधिकारों को मजबूत करने के लिए प्रयास किया था। 1983 में, 15 मार्च को आधिकारिक रूप से इस दिन का उत्सव मनाने का निर्णय लिया गया। तब से हर साल 15 मार्च को यह दिन मनाया जाता है। भारत में भी उपभोक्ताओं के पास कई अधिकार होते हैं, लेकिन वे इसके बारे में जागरूक नहीं होते। आज, विश्व उपभोक्ता अधिकार दिवस 2024 के मौके पर, हम आपको इन अधिकारों के बारे में जानकारी देंगे।

प्रत्येक ग्राहक के पास यह अधिकार होता है कि वह किसी भी उत्पाद या सेवा की शुद्धता, मूल्य, और गुणवत्ता स्तर के संबंध में विचार कर सके और दुकानदार से कोई भी सवाल पूछ सके। इसके लिए उन्हें कभी भी नकारा नहीं किया जा सकता।

Right to Choose:

इस अधिकार के अंतर्गत, आपको वह सामान चुनने का पूरा अधिकार होता है जो आपको पसंद हो। ग्राहक किसी भी वस्तु को चुनकर खरीद सकता है, उसे किसी भी दुकानदार द्वारा किसी विशेष उत्पाद या सेवा की ओर प्रवृत्त नहीं किया जा सकता।

Right to Safety

सुरक्षा का अधिकार ग्राहक को उसकी सुरक्षा की पूरी जिम्मेदारी देता है। इस अधिकार के अन्तर्गत, कोई भी दुकानदार अपने ग्राहक को किसी भी गुणवत्ता में कमी वाली या जो ग्राहक को किसी भी रूप में नुकसान पहुंचा सकती है, ऐसी कोई चीज नहीं बेच सकता। यदि ऐसा कोई सामान दुकानदार द्वारा प्रदान किया जाता है, तो आप उसे वापस कर सकते हैं और यदि दुकानदार सामान को वापस नहीं करता है, तो आप उसके खिलाफ शिकायत दर्ज कर सकते हैं।

Right to Consumer Education

ग्राहक के रूप में, आपको कई अधिकार प्राप्त होते हैं और उनकी जानकारी होना आपके अधिकारों का हिस्सा है। सरकार को समय-समय पर ग्राहकों के जागरूकता कार्यक्रम चलाने और उन्हें उनके अधिकारों के बारे में शिक्षित करने की आवश्यकता होती है।

Right to be Heard

यदि दुकानदार ग्राहक के साथ अनुचित व्यवहार करता है या उसके साथ किसी प्रकार का अन्याय होता है, तो ग्राहक को इस बारे में कन्ज्यूमर कोर्ट में अपनी शिकायत दर्ज करवा सकता है। कोन्स्‍यूमर राइट्स के तहत, उसे न्याय दिलाने का अधिकार प्राप्त होता है।

Right to seek Redressal

यदि दुकानदार ग्राहक के साथ अनुचित व्यवहार करता है या उसके साथ किसी एक उपभोक्ता के पास उसके खिलाफ हुए अन्याय की शिकायत करने का ही अधिकार नहीं होता, बल्कि उसे इसके समाधान का भी अधिकार होता है। इसका मतलब है कि उपभोक्ता को अपनी वास्तविक शिकायतों का उचित समाधान भी मिलना चाहिए।

Become a Trendsetter With DailyLiveKhabar

Newsletter

Streamline your news consumption with Dailylivekhabar's Daily Digest, your go-to source for the latest updates.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *