Thursday, 18 July 2024
Trending
लाईफ स्टाइल

LDL कोलेस्ट्रॉल कम करने के उपाय: नेचुरल तरीके से बढ़िया नतीजे पाने के लिए अपनाएं ये नीली चाय

हम आपको इस बारे में बताने जा रहे हैं कि आयुर्वेद में एक विशेष प्रकार के फूल की चाय का उपयोग LDL cholesterol को कम करने में किया जा सकता है। इस चाय में मौजूद विशेषता से नसों में जमे फैट को पिघलाने की शक्ति होती है।

आजकल लोगों की जीवनशैली और आहार में बदलाव के कारण बीमारियों का खतरा बढ़ता जा रहा है। इनमें से एक बड़ी समस्या है कोलेस्ट्रॉल, जो शरीर में चरबी की मात्रा को प्रभावित करता है। कोलेस्ट्रॉल दो प्रकार का होता है – अच्छा और बुरा। बुरे कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ने का प्रमुख कारण तला-भुना खाना और असंतुलित जीवनशैली होती है, जिससे शरीर में चरबी जमा होने लगती है। अगर आपको बुरे कोलेस्ट्रॉल की समस्या है, तो आप अपने आहार में नीली चाय शामिल कर सकते हैं, जो कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित रखने में मदद कर सकती है।

अपराजिता फूलों के पत्तों से तैयार की जाती है। इस चाय का सेवन धमनियों के माध्यम से शरीर से अनुपयुक्त चरबी को साफ करने में मदद कर सकता है। यह शरीर के चरबी को घटाने में मदद करता है और रक्त परिसंचरण को सुधार सकता है। चलिए, इसे बनाने की विधि और इसके लाभों को जानते हैं।

कोलेस्ट्रॉल कम करने में कारगर

अपराजिता चाय में एंटीऑक्सीडेंट्स और फ्लेवोनॉयड्स होते हैं, जो शरीर में जमे बुरे कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद कर सकते हैं। यह शरीर की तापमान को बढ़ाकर बुरे कोलेस्ट्रॉल लिपिड को पिघला सकता है। इससे एलडीएल कोलेस्ट्रॉल की स्तर को भी कम किया जा सकता है और साथ ही LDL cholesterol की मात्रा बढ़ाई जा सकती है।

रक्तचाप को नियंत्रित करता है

अपराजिता चाय रक्तचाप को भी नियंत्रित करने में मदद कर सकती है। यह कोलेस्ट्रॉल के स्तर को सामान्य बनाए रखने में सहायक होती है। इसके अतिरिक्त, यह दिल के लिए भी बहुत उपयुक्त हो सकती है। इसमें वैसोरिलेक्सेशन की गुणकारी विशेषताएं होती हैं, जो रक्तचाप को नियंत्रित रखने में मदद कर सकती हैं।

दिल के दौरे और स्ट्रोक के खतरे को कम करता है

जब हाई कोलेस्ट्रॉल होता है, तो अपराजिता की पत्तियों से बनी चाय दिल और नसों के स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद हो सकती है। इसमें मौजूद एंटीथ्रॉम्बोटिक गुण खून के थक्के जमने से रोकने में मदद कर सकता है। यह दिल के दौरे और स्ट्रोक के खतरे को कम करने में सहायक हो सकता है। हृदय रोगियों के लिए अपराजिता चाय एक अच्छा विकल्प हो सकता है।

अपराजिता चाय कैसे बनाये

अपराजिता के फूलों की चाय बनाना बहुत आसान है। इसके लिए सबसे पहले दो से तीन अपराजिता के फूल लें और उन्हें सुखा लें। फिर इसे गर्म पानी के साथ अच्छे से उबाल लें। जब पानी नीला दिखने लगे तो इसे कप में छान लें। इसमें नमक, नींबू और चीनी मिला सकते हैं। यह स्वाद बढ़ाने के साथ-साथ फायदेमंद भी साबित होगा।

Become a Trendsetter With DailyLiveKhabar

Newsletter

Streamline your news consumption with Dailylivekhabar's Daily Digest, your go-to source for the latest updates.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *