Friday, 19 July 2024
Trending
फ़ूड

ईद के मौके पर स्वाद और मिठास बढ़ाने के लिए बनाएं स्वादिष्ट और रसीले रसगुल्ले

बकरीद के अवसर पर मिठाई में कुछ विशेष बनाना चाहते हैं? ऐसे में रसगुल्ले एक उत्कृष्ट विकल्प हो सकते हैं। इन्हें बनाना सरल होता है और इनका स्वाद इतना लाजवाब होता है कि हर कोई इन्हें चखकर प्रसन्न हो जाएगा। बच्चों से लेकर बड़ों तक, सभी को रसगुल्ले बेहद पसंद आते हैं। आइए जानते हैं रसगुल्ले बनाने की विधि, जिससे आपकी ईद की दावत में मिठास और भी बढ़ जाएगी।

ईद का त्योहार खुशियों और मिलन का प्रतीक है, जिसमें हर कोई अपने परिवार और दोस्तों के साथ लज़ीज़ पकवानों का आनंद लेता है। इस मौके पर अगर मिठाई की बात की जाए, तो रसगुल्ले एक बेहतरीन विकल्प साबित हो सकते हैं। अपनी सादगी और लाजवाब स्वाद के कारण ये हर उम्र के लोगों को पसंद आते हैं। आइए, जानें कि कैसे ये रसगुल्ले आपकी ईद की दावत को और भी खास बना सकते हैं।

सामग्री:

  • 2 लीटर दूध
  • 1 1/2 कप चीनी
  • 1 चम्मच गुलाब जल
  • 3 बड़े चम्मच नीबू का रस
  • 3 कप पानी
  • 1 बड़ा चम्मच मैदा
  • 2 चम्मच पीसी हुई हरी इलायची

विधि:

एक भारी तले का पैन लें और उसमें दो लीटर फुल-क्रीम दूध डालें। जब इसमें उबाल आ जाए तो आंच धीमी कर दें और नींबू का रस डालें। आपके दूध को फटने में थोड़ा समय लग सकता है और आपको थोड़ा और नींबू का रस मिलाने की आवश्यकता हो सकती है।

जब दूध फटने लगे तो आंच धीमी रखें और 2-3 मिनट तक उबलने दें ताकि मट्ठा और छेना अलग हो जाएं।

गैस बंद कर दीजिए। इस बिंदु पर, आप हरा मट्ठा और पनीर या छेना स्पष्ट रूप से देख सकते हैं, जो पानी से अलग हो जाएंगे और छोटे टुकड़ों के रूप में बाहर निकल आएंगे।

गर्म तरल को 10-15 मिनट तक ठंडा होने दें। अब एक मलमल का कपड़ा या बड़ी छलनी लें और मट्ठा छान लें। नींबू की महक दूर करने के लिए इसे बहते पानी में धो लें।

आप इस मट्ठे को स्टोर कर सकते हैं और इसे सूप और स्टू या करी में उपयोग कर सकते हैं। यह बहुत पौष्टिक होता है। कई लोग इसमें थोड़ा-सा नमक या चीनी डालकर पीना भी पसंद करते हैं।

छेना थोड़ा ठंडा होने पर इसे मलमल के कपड़े में बांध लें, अतिरिक्त पानी निचोड़ लें और कुछ देर के लिए लटका रहने दें। फ्रिज में न रखें नहीं तो छेना रबड़ जैसा हो जाएगा। इस प्रक्रिया में 3-4 घंटे लग सकते हैं।

एक पैन में पानी गर्म करें। जब इसमें उबाल आ जाए तो इसमें चीनी डालें और धीमी आंच पर पकने दें। 10 मिनिट बाद चाशनी की एक बूंद चम्मच में निकाल कर चाशनी को चैक कीजिये। यदि यह एक तार की स्थिरता का है, तो आपकी चाशनी तैयार है। आधे नींबू का रस मिलाएं।

यह बाद में सिरप को दानेदार बनाने से रोकेगा। साथ ही गुलाब जल और इलायची पाउडर भी डाल दीजिए। गैस बंद कर दीजिये।

छेना को मलमल के कपड़े से निकाल लीजिए और इसके कुछ हिस्से को हाथ से मसलते रहिए। इस समय, आप मैदा मिला सकते हैं। आपको इसे इतना रगड़ना है कि यह पूरी तरह से चिकना हो जाए और थोड़ा सा तेल छोड़ने लगे।

एक बार जब आपका छेना काफी चिकना और बनावट में काफी हल्का हो जाए, तो चिकनी गोल गेंदें बनाएं और एक तरफ रख दें।

इस बीच चीनी की चाशनी को फिर से गर्म करें, जब तक कि यह उबलने की स्थिति तक न पहुंच जाए। सुनिश्चित करें कि आप छोटी-छोटी गेंदें बनाएं क्योंकि चाशनी सोखने के बाद वे फूल जाएंगी।

रसगुल्लों को एक-एक करके चाशनी में डालें और सुनिश्चित करें कि पैन में पर्याप्त जगह हो। धीमी आंच पर 5-7 मिनट तक उबालें। हिलाओ मत।
अब पैन को ढक दें और धीमी आंच पर 5-7 मिनट तक पकने दें। जब आप ढक्कन हटाएंगे तो आपको यह देखकर खुशी होगी कि रसगुल्ले फूल गए हैं और सुंदर दिख रहे हैं! आंच बंद कर दें और इसे ठंडा होने दें।

Become a Trendsetter With DailyLiveKhabar

Newsletter

Streamline your news consumption with Dailylivekhabar's Daily Digest, your go-to source for the latest updates.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *