Wednesday, 24 July 2024
Trending
ट्रावेल

लद्दाख की कुछ जगहों में से एक 400 साल पुराना लेह पैलेस, जहां से हिमालय और भी खूबसूरत दिखता है।

लद्दाख की कुछ जगहों में से एक 400 साल पुराना लेह पैलेस, जहां से हिमालय और भी खूबसूरत दिखता है।
लद्दाख की कुछ जगहों में से एक 400 साल पुराना लेह पैलेस, जहां से हिमालय और भी खूबसूरत दिखता है।

गर्मियों की छुट्टियाँ राजसी हिमालय से घिरे लेह लद्दाख के आश्चर्यजनक दृश्यों का पता लगाने का सही अवसर प्रदान करती हैं। लद्दाख के समृद्ध इतिहास से ओत-प्रोत 400 साल पुराने लेह पैलेस को देखना न भूलें। अगर आप इस गर्मी की छुट्टियों में भीड़ से बचकर किसी शांत जगह पर जाना चाहते हैं, तो आज ही इस शांत रेगिस्तानी स्वर्ग की यात्रा की योजना बनाएं!

Leh और Ladakh में क्या अंतर है?


Leh भारतीय केंद्र शासित प्रदेश Ladakh का एक शहर है। Leh राजधानी होने के साथ-साथ Ladakh का सबसे बड़ा जिला है, जो क्षेत्र के उत्तरपूर्वी भाग में स्थित है। जब लोग ‘Leh Ladakh’ के बारे में बात करते हैं, तो उनका मतलब आमतौर पर Ladakh का Leh क्षेत्र होता है, जो अपनी आश्चर्यजनक प्राकृतिक सुंदरता और मनमोहक दृश्यों के लिए जाना जाता है।

लेह का नाम ‘Slay’ या ‘Glay’ था। फिर समय के साथ वह लेह बोला जाने लगा. यह महल पर्यटकों के आकर्षण के साथ-साथ एक ऐतिहासिक आकर्षण भी है।

Origins and History


लेह पैलेस का निर्माण 16वीं सदी में शुरू हुआ और चिनाई 17वीं सदी तक जारी रही। महल का कार्य 1553 में शुरू किया गया था। लेह पैलेस ने नामग्याल राजवंश के लिए सत्ता की सीट के रूप में कार्य किया, जिसने 19वीं शताब्दी में अपने पतन तक, सदियों तक लद्दाख क्षेत्र पर शासन किया। शाही परिवार को 1846 में महल खाली करना पड़ा जब डोंगरा फाॅर्स ने इस पर हमला किया।

Winter Majesty: Leh Palace’s Stunning View

उसके बाद कई वर्षों तक महल खाली रहा। जर्जर महल को बाद में Archaeological Survey of India (ASI) द्वारा पुनर्निर्मित किया गया और जनता के लिए फिर से खोल दिया गया।

Architecture of Leh Palace


आर्किटेक्चर तिब्बती शैली से प्रेरित, महल में जटिल लकड़ी का काम, मिट्टी की ईंटें और पत्थर की चिनाई दिखाई देती है। महल में नौ मंजिलें हैं। जिसमें सबसे ऊपरी मंजिल राजा के परिवार के जलसे के लिए आरक्षित थी। जबकि सबसे निचली मंजिल का स्टोर रूम खुले सामान के लिए था। इस महल की खूबसूरती इस बात से भी है कि यह एक पहाड़ी की चोटी पर बना है। यह महल tsemo पर्वत की चोटी पर बना है।

सत्रहवीं सदी में बने लेह पैलेस का निर्माण Lhasa के Potala Palace की तरह हुआ था। लेह महल सिंधु नदी के दाहिने किनारे से 6 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। महल के एक कमरे में कुछ शाही आभूषण और साढ़े चार सौ साल पुरानी पेंटिंग्स भी लगी हुई हैं।

Image courtesy: Instagram/officialcultLeh Palace is modeled after the Potala Palace in Lhasa.

Framed by the Himalayan Peaks :


स्ट्रेटेजिक लोकेशन के कारण यह पहाड़ी के ऊपर स्थित, महल राजसी हिमालय श्रृंखला, लेह घाटी और नीचे घुमावदार सिंधु नदी के मनोरम दृश्य प्रस्तुत करता है। जो किसी फोटोग्राफर्स के लिए स्वर्ग से कम नहीं।

Image courtesy: X/@rakprao – Leh City at night: A captivating panorama beneath the Himalayan stars.

Tourist Attractions:


Nearby Attractions: लेह पैलेस के बगल में Namgyal Tsemo Monastery है, जो शांति स्तूप और लेह बाजार जैसे आसपास के अन्य आकर्षणों के साथ-साथ हिमालय के शांत वातावरण के बीच एक आध्यात्मिक विश्राम प्रदान करता है।

Designed by Freepik – Namgyal Tsemo Monastery: A tranquil sanctuary atop Leh’s ancient hills.
Image courtesy: X/@nontsay – Discover vibrant culture at Leh Market, bustling with local flavors and traditions
Shanti Stupa: A serene sanctuary amidst the rugged Himalayan landscape.

Cultural Festivals: वार्षिक Ladakh Festival क्षेत्र की जीवंत संस्कृति और परंपराओं का जश्न मनाता है, जिसमें अक्सर लेह पैलेस में सांस्कृतिक प्रदर्शन, पारंपरिक नृत्य और प्रदर्शनियां होती हैं, जो दूर-दूर से टूरिस्ट को आकर्षित करती हैं।

Laddakh Annual Festival
Sindhu Darshan Festival

Other News :


Become a Trendsetter With DailyLiveKhabar

Newsletter

Streamline your news consumption with Dailylivekhabar's Daily Digest, your go-to source for the latest updates.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *