Wednesday, 24 July 2024
Trending
ट्रावेल

Gujarat के नये Weekend Destination जहां काफी समय से लोगों को एक दिन की Picnic मनाते देखा जा रहा है।

गुजरात में घूमने के लिए 20 खूबसूरत जगह – Famous Places in Gujarat

1. Kashtabhanjan Hanuman Mandir

गुजरात के सांरगपुर में स्थित कष्टभंजन हनुमान मंदिर किले की तरह दिखाई देता है। इस मंदिर में हनुमान जी सोने के सिंहासन पर विराजमान हैं। यहां हनुमान जी की प्रतिमा के आसपास वानर सेना दिखाई देती है। इस मंदिर में हनुमानजी के साथ ही शनिदेव स्त्री रूप में भी विराजित हैं

2. Somnath Temple

सोमनाथ का मंदिर हमारे देश के प्रमुख पर्यटन स्थलों में गिना जाता है। यह मंदिर हमारे12 ज्योतिर्लिंगों में से एक है। जिसकी वजह से इस मंदिर की बहुत ही ज़्यादा मान्यता है और हर दिन हज़ारों की संख्या में इस जगह पर दर्शन के लिए लोग जाते हैं। यह मंदिर काफ़ी प्राचीन है और 12वीं सदी से ही ईरानी, तुर्की, अफगानी राजाओं के आक्रमण का गवाह रहा है। यह कई बार बड़ी बेरहमी से लूटा है। 

3. Pavagadh

काली माता का यह प्रसिद्ध मंदिर माँ के शक्तिपीठों में से एक है। शक्तिपीठ उन पूजा स्थलों को कहा जाता है, जहाँ सती माँ के अंग गिरे थे। पुराणों के अनुसार पिता दक्ष के यज्ञ में अपमानित हुई सती ने योगबल द्वारा अपने प्राण त्याग दिए थे। सती की मृत्यु से व्यथित शिवशंकर उनके मृत शरीर को लेकर तांडव करते हुए ब्रह्मांड में भटकते रहे। इस समय माँ के अंग जहाँ-जहाँ गिरे वहीं शक्तिपीठ बन गए। माना जाता है कि पावागढ़ में माँ के दाहिने पैर की अंगुली गिरे थे।

4. Saputara Hill Station

सापुतारा की पहचान एक ख़ूबसूरत हिल स्टेशन के रूप में है। जिसकी वजह से प्रकृति प्रेमियों की यह पहली पसंद मानी जाती है। इस जगह पर देश भर से सैलानी तरह तरह की साहसिक और रोमांचक गतिविधियों का मज़ा लेने के लिए आते हैं। इस जगह पर आपको हरे-भरे जंगल, पहाड़ और झरने देखने को मिल जाएँगे। सापुतारा का शाब्दिक अर्थ सांपों का निवास होता है जिसकी वजह से स्थानीय लोग इस जगह पर सांपों की पूजा करते हैं। 

5. Dwarka

गुजरात में स्थित द्वारका को अपने पौराणिक और धार्मिक महत्व के लिए जाना जाता है। इस जगह पर कई सारे प्राचीन और पौराणिक स्थल हैं। यही वजह है कि इस जगह पर देश के कोने कोने से सैलानी आते हैं और इस जगह पर स्थित मंदिरों और पर्यटक गतिविधियों का लुत्फ़ उठाते हैं। इस जगह को देवनगरी के रूप में जाना जाता है जिसकी वजह से आस्था का प्रमुख केंद्र बन गया है। मंदिर दर्शन और नदी तट का सैर लोगों को काफी आकर्षित करता है।

6. Rann of Kutch

कच्छ नहीं देखा तो कुछ नहीं देखा। यह कहावत इस नगर के लिए बिल्कुल ही सटीक बैठती है। यही वजह है कि गुजरात आने वाले हर सैलानी की पहली प्राथमिकता कच्छ देखने की होती है। कच्छ के रण को सफेद रेगिस्तान के रूप में जाना जाता है और यह हर किसी को अपनी तरफ़ आकर्षित करता है। यह जगह आपके मन में एक अलग ही तरह का रोमांच पैदा करता है। इस जगह पर रात का जो नज़ारा दिखाई देता है वह बहुत ही लाजवाब है। 

7. Gir National Park

गिर अंतरराष्ट्रीय उद्यान को देश का एक प्रमुख नेशनल पार्क माना जाता है। जिसका मुख्य कारण इस जगह पर पाए जाने वाले शेर हैं। शेर जैसा जानवर जो हर किसी के आकर्षण का केंद्र होता है अफ़्रीका के बाद सबसे ज़्यादा गिर की याद दिलाता है। इस जगह पर जाकर आप तरह तरह की जैव विविधता को देखने के अलावा इस जगह पर पाए जाने वाले शेर को ज़रूर देखें। साथ ही साथ उसकी गतिविधियों को भी देखें और इस बात को जानने का प्रयास करें कि इसे जंगल का राजा क्यों कहा जाता है। 

8. Khijadiya Bird Sanctuary

खिजड़िया पक्षी अभ्यारण गुजरात के लोकप्रिय पर्यटन स्थलों में गिना जाता है। यह देश भर से आए सैलानियों को अपनी तरफ़ आकर्षित करता है। यह 1992 में बना यह अभ्यारण जामनगर से महज़ 10 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यह सभी प्रकार के पक्षियों के लिए एक ख़ूबसूरत और सुरक्षित आश्रय है। इस जगह पर वर्तमान में 300 से भी अधिक प्रकार के प्रवासी पंछी हैं। यदि आप प्रकृति और पक्षी प्रेमी हैं तो यह आपको बहुत पसंद आएगा। 

9. Porbandar Beach

पोरबंदर एक पर्यटन स्थल के साथ महात्मा गांधी का जन्म स्थान भी है। जिसकी वजह से यह दुनिया भर में प्रसिद्ध है। इस जगह पर ही पोरबंदर जलाशय स्थित है। इस जगह पर आपको कई प्रसिद्ध मंदिर और समुद्र तट देखने को मिल जाते हैं। पोरबन्दर देश का एक बहुत महत्वपूर्ण बंदरगाह भी है। यह व्यापारिक विकास में बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इस जगह पर जाकर पोरबंदर बीच का मज़ा ज़रूर लें। 

10. Girnar

सौराष्ट्र में स्थित गिरनार गुजरात का प्रमुख पर्यटन स्थल है जिसकी वजह से इस जगह पर देश के कोने कोने से सैलानी आते हैं और इस जगह पर स्थित पर्यटन स्थलों पर घूमना पसंद करते हैं। यह इस जगह का सबसे ऊंचा पर्वत माना जाता है। साथ ही साथ यह जैन और हिंदू धर्म से जुड़े लोगों के लिए आस्था का प्रमुख केंद्र भी है। इस जगह पर आकर आप तमाम तरह के मंदिरों का दर्शन कर सकते हैं। 

11. Polo Forest

पोलो वन , जिसे विजयनगर वन के नाम से भी जाना जाता है, भारत के गुजरात के साबरकांठा जिले के विजयनगर तालुका में आभापुर गाँव के पास एक शुष्क मिश्रित पर्णपाती वन है। यह अरावली पर्वतमाला की तलहटी में और बारहमासी हरनव नदी के तट पर स्थित है, जो 400 वर्ग किलोमीटर (99,000 एकड़) के क्षेत्र में फैला हुआ है।

12. Ambaji

अम्बाजी माता मन्दिर या अरासुरी अम्बाजी मन्दिर भारत में माँ शक्ति के 51 शक्तिपीठों में से एक प्रधान पीठ है। यह पालनपुर से लगभग 65 कि॰मी॰, आबू पर्वत से 45 कि॰मी॰, आबू रोड से 20 किमी, श्री अमीरगढ़ से42 कि॰मी॰, कडियाद्रा से 5 कि॰मी॰ दूरी पर गुजरात-राजस्थान सीमा पर अरासुर पर्वत पर स्थित है। यहाँ कोई प्रतिमा स्थापित नहीं है, केवल पवित्र श्रीयंत्र की पूजा मुख्य आराध्य रूप में की जाती है। इस यंत्र को कोई भी सीधे आंखों से देख नहीं सकता एवं इसकी फ़ोटोग्राफ़ी का भी निषेध है।

13. Diu Daman

केंद्र शासित प्रदेश दमन गुजरात राज्‍य के वलसाड जिला के नजदीक स्थित है। पहले यह पुर्तगालियों के कब्‍जे में था। स्‍वतंत्रता के बहुत बाद तक यह पुर्तगालियों के कब्‍जे में रहा। 1961 ई. जब गोवा को पुर्तगालियों के कब्‍जे से मुक्‍त कर भारत में मिलाया गया, उसी समय दमन को भी भारत में शामिल कर लिया गया। उस समय इसे गोवा में मिला दिया गया था। 1987 ई. में इसे अलग से केंद्र शासित प्रदेश का दर्जा दिया गया।

14. Rani ki Vav

रानी की वाव भारत के गुजरात राज्य के पाटण में स्थित प्रसिद्ध बावड़ी (सीढ़ीदार कुआँ) है। इस चित्र को जुलाई 2018 में RBI (भारतीय रिज़र्व बैंक) द्वारा ₹100 के नोट पर चित्रित किया गया है तथा 22 जून 2014 को इसे यूनेस्को के विश्व विरासत स्थल में सम्मिलित किया गया।[1]

पाटण को पहले ‘अन्हिलपुर’ के नाम से जाना जाता था, जो गुजरात की पूर्व राजधानी थी। कहते हैं कि रानी की वाव (बावड़ी) वर्ष 1063 में सोलंकी शासन के राजा भीमदेव प्रथम की प्रेमिल स्‍मृति में उनकी पत्नी रानी उदयामति ने बनवाया था। रानी उदयमति जूनागढ़ के चूड़ासमा शासक रा’ खेंगार(खंगार) की पुत्री थीं। सोलंकी राजवंश के संस्‍थापक मूलराज थे। सीढ़ी युक्‍त बावड़ी में कभी सरस्वती नदी के जल के कारण गाद भर गया था। यह वाव 64 मीटर लंबा, 20 मीटर चौड़ा तथा 27 मीटर गहरा है। यह भारत में अपनी तरह का अनूठा वाव है।

15. Statue of Unity

स्टैच्यू ऑफ यूनिटी भारत के प्रथम उप प्रधानमन्त्री तथा प्रथम गृहमन्त्री वल्लभभाई पटेल को समर्पित एक स्मारक है, जो भारतीय राज्य गुजरात में स्थित है। गुजरात के तत्कालीन मुख्यमन्त्री नरेन्द्र मोदी ने 31 अक्टूबर 2013 को सरदार पटेल के जन्मदिवस के मौके पर इस विशालकाय मूर्ति के निर्माण का शिलान्यास किया था। यह स्मारक सरदार सरोवर बांध से 3.2 किमी की दूरी पर साधू बेट नामक स्थान पर है जो कि नर्मदा नदी पर एक टापू है। यह स्थान भारतीय राज्य गुजरात के भरुच के निकट नर्मदा जिले में स्थित है।

16. Swaminarayan Akshardham

गांधीनगर, गुजरात, भारत में स्वामीनारायण अक्षरधाम एक बड़ा हिंदू मंदिर परिसर है जो स्वामीनारायण के चौथे आध्यात्मिक उत्तराधिकारी योगीजी महाराज (1892-1971) से प्रेरित है, और स्वामीनारायण के पांचवें आध्यात्मिक उत्तराधिकारी प्रमुख स्वामी महाराज (1921-2016) द्वारा बनाया गया है। स्वामीनारायण हिंदू धर्म का बीएपीएस संप्रदाय। गुजरात की राजधानी में स्थित, यह परिसर 13 वर्षों में बनाया गया था और यह स्वामीनारायण और उनके जीवन और शिक्षाओं के लिए एक श्रद्धांजलि है। 23 एकड़ के परिसर के केंद्र में अक्षरधाम मंदिर है, जो राजस्थान के 6,000 मीट्रिक टन गुलाबी बलुआ पत्थर से बनाया गया है। परिसर का नाम बीएपीएस दर्शन में स्वामीनारायण के दिव्य निवास को संदर्भित करता है; स्वामीनारायण के अनुयायियों का मानना है कि मोक्ष या मुक्ति प्राप्त करने के बाद जीव या आत्मा अक्षरधाम जाती है। बीएपीएस अनुयायी स्वामीनारायण को सर्वशक्तिमान ईश्वर के रूप में पूजते हैं।

17. Lakshmi Vilas Palace

लक्ष्मी विलास महल बड़ोदरा में स्थित है। महाराजा पैलेस वास्तव में बड़ोदरा, गुजरात, भारत में महलों की एक श्रृंखला को संदर्भित करता है, क्योंकि गायकवाड़ एक प्रसिद्ध मराठा परिवार है, बड़ोदरा राज्य पर शासन करना शुरू कर दिया। पहले एक सरकार की इमारत थी जिसे सरकार वाडा के रूप में जाना जाता था। पुरानी शास्त्रीय शैली में बनाया गया नज़ारबाग पैलेस के लिए यह इमारत वास्तव में एक महल नहीं थी। इसके बाद, लक्ष्मी विलास पैलेस, इंडो-सरैसेनिक रिवाइवल आर्किटेक्चर की एक असाधारण इमारत, 1890 में जीपीबी 180000 की लागत से महाराजा सयाजीराव गायकवाड 3 द्वारा निर्मित किया गया था।

18. Science City Ahmedabad

गुजरात साइंस सिटी भारत के अहमदाबाद , गुजरात में स्थित एक विज्ञान शिक्षा और मनोरंजन केंद्र है। 2002 में खोला गया और 2021 में विस्तारित, इसमें एक IMAX 3D थिएटर है; विज्ञान, अंतरिक्ष, ऊर्जा पार्क, जीवन विज्ञान पार्क, ग्रह पृथ्वी, विज्ञान हॉल, संगीतमय फव्वारा, रोमांचकारी सवारी, पौधे, प्रकृति और रोबोटिक्स पर प्रदर्शनियाँ; एक मछलीघर, एक पक्षीशाला और एक तितली पार्क; साथ ही अन्य सुविधाएं भी।

19.Sardar Sarovar Dam

सरदार सरोवर बांध भारत के गुजरात राज्य में नर्मदा जिले के केवड़िया शहर के पास नर्मदा नदी पर बना एक कंक्रीट ग्रेविटी बांध है । इस बांध का निर्माण भारतीय राज्यों गुजरात , मध्य प्रदेश , महाराष्ट्र और राजस्थान को पानी और बिजली उपलब्ध कराने के लिए किया गया था ।

20.Indroda Nature Park

भारत के गुजरात के गांधीनगर में इंड्रोडा डायनासोर और जीवाश्म पार्क , एक पार्क है जिसमें डायनासोर के जीवाश्म अवशेष और पेट्रीकृत अंडे हैं । यह एक मानव निर्मित जीवाश्म पार्क है , न कि वास्तविक घोंसले का मैदान जहां डायनासोर रहते थे। यहां प्रदर्शित अंडे और जीवाश्म दुनिया के तीसरे सबसे बड़े डायनासोर जीवाश्म उत्खनन स्थल और राययोली, बालासिनोर, गुजरात में दूसरी सबसे बड़ी हैचरी से हैं। यह पार्क भारतीय भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण द्वारा स्थापित किया गया था और यह देश का एकमात्र डायनासोर संग्रहालय है।

Become a Trendsetter With DailyLiveKhabar

Newsletter

Streamline your news consumption with Dailylivekhabar's Daily Digest, your go-to source for the latest updates.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *